आम आदमी पार्टी ने मनाया ‘काला दिवस’, मुख्यमंत्री आवास का किया घेराव

319

उत्तराखंड । हाल ही में बीजेपी आलाकमान के द्वारा प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन होने के बाद प्रदेश सरकार के 4 वर्ष पूर्ण होने के सभी कार्यक्रमों को निरस्त कर दिया गया, और इसी बाबत विपक्ष इन 4 सालों के कार्यकाल को पूरी तरीके से विफल बता रहा है इसी मुद्दे को लेकर आज आप के कार्यकर्ताओं ने सीएम आवास कूच कर बीजेपी से कहा,हिसाब दो,जवाब दो और इसी के साथ पूरे प्रदेश में काला दिवस मनाया।

आज उत्तराखंड सरकार के विफलताओं भरे 4 साल के विरोध में आम आदमी पार्टी ने प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया और आप प्रदेश अध्यक्ष एस एस कलेर के नेतृत्व में मुख्यमंत्री आवास की ओर कूच किया। इस दौरान हजारों की संख्या में आप कार्यकर्ता अलग अलग विधानसभाओं से यहां पहुंचे जहां उन्हें मुख्यमंत्री आवास कूच करने के दौरान हाथीबड़कला में पुलिस ने बैरिकेटिंग लगाकर रोक दिया।

इस दौरान आप कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच धक्का मुक्की हुई । कई कार्यकर्ताओं ने जबरदस्ती बेरिकेटिंग पर चढ़ने की कोशिश की जिनको पुलिस ने बलपूर्वक पीछे धकेला। आप कार्यकर्ता काफी देर नारेबाजी करने के बाद वहीं धरने पर बैठ गए जिसके बाद पुलिसकर्मी जबरन आप प्रभारी समेत कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले गए।जहां बाद में निजी मुचलके पर सभी को रिहा किया गया।

इस दौरान आप प्रदेश प्रभारी समर्थकों के साथ वहीं बैठ गए और उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि आज बीजेपी के बीते 4 सालों के कुशासन के विरोध में आप कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री आवास का घेराव किया। उन्होंने कहा कि, बीजेपी सरकार ने उत्तराखंड की जनता के साथ छल किया है जिसे जनता किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि, बीजेपी ने जनता के 4 साल खराब किए हैं, उसका जवाब जनता को आखिर कौन देगा।

उन्होंने कहा कि, आप पार्टी और जनता को इन 4 सालों का जवाब चाहिए और अगर जवाब नहीं मिलता तो समस्त बीजेपी नेताओं के घर घर जाकर आप पार्टी बीते 4 सालों का जवाब मांगेगी। उन्होंने कहा कि, मुख्यमंत्री बदलना सिर्फ खानापूर्ति करने जैसा है। आप पार्टी सभी विधायकों से भी इन बीते 4 सालों का हिसाब जरुर लेगी। जनता के साथ किए गए छल का जवाब आगामी विधानसभा चुनावों में बीजेपी को मिल जाएगा और जनता ही इन्हें अर्श से फर्श पर लाकर पटकेगी।

पुलिस से धक्का मुक्की के दौरान आप अध्यक्ष की तबियत बिगड़ी,अस्पताल में भर्ती

इस दौरान बैरिकेटिंग पर धक्कामुक्की के दौरान आप प्रदेश अध्यक्ष की तबीयत अचानक बिगड़ जाने से उन्हें आप कार्यकर्ता अस्पताल ले गए । आप प्रभारी समेत कई आप पदाधिकारी पुलिस लाइन से छूटने के बाद सीधे अस्पताल पहुंचे जहां उन्होंने अध्यक्ष का हालचाल जाना।