हरिद्वार कुंभ में बैरागियों की अपर मेलाधिकारी से मारपीट, हंगामा

298

हरिद्वार में आखिरकार आधू अधूरे कामों पर संतों की नाराजगी अब खुलकर सामने आने लगी है। हालात ये हैं कि ये नाराजगी अब मारपीट और हंगामे तक पहुंच गई है।


बताया जा रहा है कि गुरुवार को कुंभ के अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह चुघ की बैरागी संतों के साथ बैठक थी। तकरीबन रात आठ बजे ये बैठक तय थी। इस बैठक में भाग लेने के लिए अपर मेलाधिकारी निर्मोही अणि अखाड़े पहुंचे। जिस समय वो पहुंचे उस समय अखाड़े में लाइट नहीं आ रही थी। जैसे ही अपर मेलाधिकारी पहुंचे बैरागी संतों ने नाराजगी जतानी शुरु कर दी। बात इतनी बढ़ी कि अपर मेलाधिकारी को वहां से पीछे हटना पड़ा। वो अपनी गाड़ी में आकर बैठने लगे। इसी दौरान कुछ लोगों ने उन्हें खींच लिया और मारपीट शुरु कर दी। अपर मेलाधिकारी को बचाने आए उनके गनर की भी पिटाई कर दी गई। बताते हैं कि अपर मेलाधिकारी के साथ मौजूद सिपाही को इतना पीटा गया कि वो बेहोश हो गया। इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दी।

सूचना मिलते ही मौके पर आईजी कुंभ संजय गुंज्याल पूरी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और हालात को नियंत्रित किया। फोर्स ने अपर मेलाधिकारी को सुरक्षित बचाया हालांकि उन्हें कुछ चोटें आईं हैं। इसके बात तनाव को देखते हुए इलाके में फोर्स को तैनात किया गया है।

वहीं इस पूरे मामले की गंभीरता को देखते हुए अखाड़ा परिषद ने जांच कमेटी बनाई है। अखाड़ा परिषद ने इस घटना की निंदा की है। परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी ने घटना की जांच के लिए एक कमेटी बनाई है। कमेटी एक हफ्ते में रिपोर्ट देगी। इसके बाद आरोपी संतों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस कमेटी में आह्वान, आनंद अखाड़ा, अग्नि अखाड़ा, अटल अखाड़ा, बड़ा उदासीन, नया उदासीन, निर्मल अखाड़ा और दिगंबर अणी अखाड़ा और निर्वाणी अखाड़ा के एक-एक सदस्य को शामिल किया गया है।