दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार भ्रष्टाचार के आरोपों में घिर गई है। दिल्ली सरकार पर 1000 लो फ्लोर बसों की खरीद में धांधली का आरोप है। अब इस मामले की जांच CBI करेगी।


low floor bus scam in delhi

 

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार के लिए एक बड़ा झटका है। भ्रष्टाचार मुक्त शासन का दावा करने वाली दिल्ली सरकार अब खुद ही भ्रष्टाचार के आरोपों में घिर गई है।

खरीदीं 1000 बसें 

दिल्ली सरकार पर 2 कंपनियों के साथ 1000 लो फ्लोर बसों को खरीदने में धांधली का आरोप लगा है। आपको बता दें कि दिल्ली सरकार ने 2 कंपनियों के साथ 1000 लो फ्लोर बसों को खरीदने का एग्रीमेंट किया था, लेकिन इस खरीद की प्रक्रिया में अनियमितता पाई गई है। अब गृह मंत्रालय के आदेश के बाद इस मामले की जांच सीबीआई को दे दी गई है। गृह मंत्रालय ने दिल्ली में 1,000 लो फ्लोर बसों (Low Floor Buses) की खरीद के मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश की है।

ये भी पढ़िए – Uttarakhand: भ्रष्ट शासन से मुक्ति की बात करते करते ‘हिंदू’ पर आकर टिके केजरीवाल

इस मामले में सबसे पहले बीजेपी विधायक विजेंदर गुप्ता ने LG से शिकायत की थी। इसके बाद वहां से ये शिकायत गृह मंत्रालय भेज दी गई। अब गृह मंत्रालय ने दिल्ली के मुख्य सचिव को इसकी जांच सीबीआई से कराने के आदेश दिए हैं।

बीजेपी की साजिश 

वहीं इस मामले में दिल्ली सरकार की ओर से प्रतिक्रिया आई है। दिल्ली सरकार ने कहा है कि बीजेपी, अलग अलग तरीकों से आम आदमी पार्टी की सरकार को बदनाम करने की साजिश रचती है लेकिन कभी सफल नहीं हो पाती है।

 

वहीं दिल्ली के बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता ने ट्वीट कर कहा कि DTC बस खरीद घोटाले में CBI जांच शुरू हो गई है और परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत को तुरंत बर्खास्त करके गिरफ्तार कर लेना चाहिए। केजरीवाल सरकार ने 5000 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार को दबाने और रफा-दफा करने का भरसक प्रयास किया।


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube