सीएम त्रिवेंद्र ने दी नए साल की शुभकामनाएं, गिनाई ये उपलब्धियां

211
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेशवासियों को नए साल की बधाई दी है। नववर्ष की पूर्व संध्या पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वे मन, वचन एवं कर्म से प्रदेश की सेवा का धर्म निभाने का प्रयास कर रहे हैं। वर्ष 2019 में हमने प्रदेश के समग्र विकास व आम आदमी तक जनकल्याणकारी योजनाओं को पहुंचाने का प्रयास किया है। वर्ष 2020 में भी इसी दिशा में और तेजी से बढ़ा जाएगा।
जीरो टालरेंस का जिक्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास की दृष्टि से उत्तराखंड देश के अग्रणी राज्यों में शुमार हो इसके लिये राज्यहित में अनेक नीतिगत निर्णय लिये गये हैं। लोक सेवकों के स्थानांतरण में पारदर्शिता लाने और सरकारी मशीनरी को सुदृढ़ करने के लिये ट्रांसफर एक्ट बनाया गया है। पारदर्शी, भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन की दिशा में कदम बढ़ाते हुए सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ  जीरो टालरेंस नीति अपनाई है।

किसानों की आय होगी दुगुनी
देवस्थानम की व्यवस्था से चार धामों की अवस्थापना सुविधाओं के विकास एवं तीर्थ यात्रियों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हो सकेंगी। सरकार पर्वतीय क्षेत्रों में क्लस्टर आधारित एप्रोच पर ग्रोथ सेंटर विकसित कर रही है। रोजगार के अवसर उत्पन्न करने, पलायन को रोकने व किसानों की आय को दोगुना करने के लिए 3340 करोड़ की राज्य समेकित सहकारी विकास परियोजना शुरू करेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड को आर्थिक मजबूती प्रदान करने के लिए पर्यटन महत्वपूर्ण क्षेत्र है। पर्यटन को उद्योग का दर्जा देकर एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ावा दिया जा रहा है। ग्रामीण पर्यटन को संवारने के लिए 5 हजार नये होम स्टे बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

फिल्मांकन  के क्षेत्र में मोस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट का राष्ट्रीय पुरस्कार, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए उत्तराखंड को सात पुरस्कार मिले। उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए कृषि कर्मण प्रशंसा पुरस्कार केंद्र से मिला। नदियों के पुनर्जनन, विकास व संरक्षण में पहला राष्ट्रीय जल पुरस्कार 2018 मिला। हमारी पहल पर मसूरी में आयोजित हिमालयन कॉन्क्लेव में 11 हिमालयी राज्यों ने पर्यावरण व जैव विविधता के संरक्षण के साथ देश की समृद्धि में योगदान के लिए मसूरी संकल्प पारित किया गया।

ऑल वेदर रोड और कर्णप्रयाग रेल लाइन
ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेलवे लाइन और आल वेदर रोड का कार्य तेजी से हो रहा है। दशकों से लटकी जमरानी बांध परियोजना को धरातल पर उतरने वाली है। अटल आयुष्मान योजना में राज्य के समस्त परिवारों को प्रतिवर्ष 5 लाख रूपए तक वार्षिक की निशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने नए साल के अवसर पर प्रदेश वासियों से प्रदेश को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जाने में अपनी सकारात्मक भूमिका निभाने का भी आह्वान किया है।