एलोपैथी पर सवाल उठाकर बाबा रामदेव अब बुरे फंसे हैं। बाबा रामदेव के खिलाफ दिल्ली में पुलिस शिकायत दर्ज करा दी गई है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई है।


 

आपको बता दें कि बाबा रामदेव ने हाल ही में एलोपैथ को लेकर एक क बाद एक कई बयान दिए। उन्होंने कोरोना वैक्सीन पर भी सवाल उठाए हैं। बाबा रामदेव के बयानों का जब IMA  ने विरोध किया और सक्षम एजेंसियों से कार्रवाई की मांग की तो उसके बाद बाबा रामदेव ने लगभग चुनौती भरे अंदाज में बयान दिया कि उन्हें कोई अरेस्ट नहीं कर सकता है।

इसके बाद बाबा रामदेव के खिलाफ IMA  अब लंबी लड़ाई लड़ने की तैयारी में है। IMA ने दिल्ली के आईपी एस्टेट थाने में दर्ज कराई गई है। इस शिकायत में कहा गया है कि रामदेव कोरोना के इलाज को लेकर भ्रम फैला रहे हैं, जो एक अपराध है।

PM को भी लिखा खत

IMA  ने पीएम नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने बाबा रामदेव के ऊपर वैक्सीन को लेकर दुष्प्रचार करने का आरोप लगाया है। इसके साथ ही कोविड के इलाज में सरकार के प्रोटोकॉल को चुनौती देने का आरोप भी है। इसी के तहत IMA ने बाबा रामदेव पर राजद्रोह का केस दर्ज करने की मांग की है।

IMA  ने पीएम को लिखा है, ‘हम आपसे अपील करते हैं कि अपने कंपनी के उत्पादों के निहित स्वार्थ के चलते टीकाकरण पर डर का संदेश फैलाने वाले और भारत सरकार के उपचार प्रोटोकॉलों को चुनौती देने वाले लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई करें. हमारे विचार से यह स्पष्ट रूप से राजद्रोह का मामला है और ऐसे लोगों पर बिना किसी देरी के राजद्रोह के आरोपों में फौरन मुकदमा दर्ज होना चाहिए’।

IMA ने बाबा रामदेव को एक हजार करोड़ की मानहानी का नोटिस भी भेजा है। IMA ने कहा है कि अगर बाबा रामदेव 15 दिनों में माफी नहीं मांगते हैं तो उनके खिलाफ मानहानी की केस होगा।


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube