महाराष्ट्र में कोरोना के कम होते की कुछ हिस्सों में स्कूल खोलने का निर्णय किया गया। यहां पर 15 जुलाई से कक्षा 8-12 के लिए फिर से स्कूल खोले गए, लेकिन महाराष्ट्र के सोलापुर जिले में लगभग 600 से ज्यादा छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।


students

कोरोना की तीसरी लहर के बीच यह खबर महाराष्ट्र की टेंशन बढ़ा रही है, क्‍योंकि स्कूल खोले जानें के बाद सोलापुर में 10 दिन में 613 बच्चे कोरोना पॉजिटिव आए हैं, जिसमें सभी की उम्र 18 साल से कम है।

 

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, जैसे ही मामले कम हुए महाराष्ट्र के स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने इस महीने की शुरुआत में स्कूलों को शारीरिक कक्षाओं के लिए 12 जुलाई से कोविड-मुक्त क्षेत्रों में फिर से खोलने के लिए कहा था। स्कूलों को फिर से खोलने के लिए कहते हुए वर्षा गायकवाड़ ने कहा था कि राज्य के अंतिम तबके के बच्चों तक पहुंचने के लिए सह-शिक्षा दृष्टिकोण रखना समय की आवश्यकता बन गई है।

लगातार चल रहे बंद

बता दें कि महाराष्ट्र में स्कूल मार्च 2020 में बंद कर दिए गए थे, जब देश में कोविड-19 महामारी ने दस्तक दी थी। भारत में सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में से एक के रूप में स्कूल पूरे 2020 और 2021 के पहले 6 महीनों में ऑफ़लाइन कक्षाओं के लिए फिर से नहीं खुले।

ये भी पढ़िए – यहां देख सकते हैं CBSE Board का रिजल्ट, ये है प्रॉसेस

यह खबर ऐसे समय पर आई है, जब महाराष्ट्र ने बुधवार को 6,857 नए कोरोना वायरस संक्रमण और 286 मौतें दर्ज की है, जिससे मामलों की संख्या 62,82,914 हो गई और मरने वालों की संख्या 1,32,145 हो गई।

राज्य में मंगलवार की तुलना में नए कोविड-19 मामलों और घातक घटनाओं में वृद्धि देखी गई, जब इसने 6,258 संक्रमण और 254 मौतों की सूचना दी थी। गौरतलब है कि भंडारा जिले में पिछले 24 घंटों में कोई नया कोरोना वायरस संक्रमण दर्ज नहीं किया गया है।


समाचारों के लिए हमें ईमेल करें – khabardevbhoomi@gmail.com। हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube