देहरादून और ऋषिकेश को जोड़ने वाला (Dehradun Rishikesh National Highway) रानीपोखरी पुल के टूटने के बाद अब कई नेता उसे देखने पहुंच रहें हैं। रविवार को राज्य के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों ने इस टूटे पुल का मुआयना किया है।


trivendra

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस टूटे पुल का मुआयना किया। इस दौरान उनके साथ कई और लोग भी थे। त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अधिकारियों को जल्द से जल्द नए पुल के निर्माण के लिए निर्देशित किया है। त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि ये पुल बेहद अहम है। ये पुल देहरादून को गढ़वाल, बागेश्वर और पिथौरागढ़ से जोड़ता है।

ये भी पढ़िए – रानीपोखरी पुल की जगह बनेगा 450 मीटर लंबा नया पुल, शुरु हुआ सर्वे

गौरतलब है कि त्रिवेंद्र सिंह रावत पिछले कुछ दिनों से उत्तरकाशी में थे। वहां से लौटते ही वो टूटे हुए पुल को देखने पहुंचे।

harish rawat

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता हरीश रावत ने भी रविवार को टूटे हुए पुल का निरीक्षण किया है। हरीश रावत ने इस दौरान मीडिया के साथ बातचीत में पुल के नीचे नदी में अवैध खनन का आरोप भी लगा दिया। हरीश रावत ने कहा है कि, ऐसा लगता है कि खनन के चलते पानी का प्रवाह एक ही तरफ आ गया और पुल का एक हिस्सा गिर गया।


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube