how to remove dandruff अगर आप भी गहरे रंग के कपड़े पहनने से परहेज करते हैं, अगर आप भी डैंड्रफ (Dandruff) की प्रॉब्लम के चलते गहरे या काले रंग के कपड़े पहनना छोड़ देते हैं तो ये पोस्ट आपके लिए है। डैंड्रफ के चलते कई लोगों के बालों को भी बहुत नुकसान होता है. इससे बालों की जड़ें कमजोर हो जाती हैं और बाल गिरना शुरू हो जाते हैं.

आमतौर पर रूसी की समस्या को गंभीरता से नहीं लिया जाता है लेकिन अगर समय रहते इस पर ध्यान नहीं दिया जाए तो ये सामान्य समस्या भी गंभीर हो सकती है. यूं तो बाजार में बहुत से एंटी-डैंड्रफ शैंपू (Anti dandruff shampoo) मौजूद हैं लेकिन इनके इस्तेमाल से बालों के रूखा होने का खतरा बना रहता है. ऐसे में बेहतर होगा कि आप घरेलू उपाय अपनाएं ताकि बाल कम से कम डैमेज हों.

ये हैं वो कमाल के घरेलू उपाय जिन्हें एकबार आजमाने के बाद आपको नहीं सताएगी रूसी की समस्या:

नींबू का रस
रूसी की समस्या को दूर करने के लिए नींबू के रस का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद है. लेकिन आपको इसे सही तरीके से इस्तेमाल करना आना चाहिए वरना आपके बाल रूखे हो सकते हैं. सरसों के तेल में या फिर कोकोनट ऑयल में एक नींबू को अच्छी तरह निचोड़ लें.इस तेल से स्कैल्प में हल्की मसाज करेंऔर कुछ देर के लिए इसे यूं ही छोड़ दें. इसके बाद बालों को अच्छी तरह धो लें. सप्ताह में दो बार ये उपाय करके देखिए. आपको निश्चित रूप से फायदा होगा.

 

टी ट्री ऑयल
टी-ट्री ऑइल में एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं. ऐसे में रूसी की समस्या दूर करने का ये एक बहुत ही कारगर उपाय है. अपने शैंपू में इसकी कुछ बूंदें मिलाकर सिर धो लें. चार से पांच बार के इस्तेमाल से ही रूसी की समस्या दूर हो जाएगी.

 

दही
रूसी की समस्या में दही का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद होता है. ये रूसी की समस्या को दूर करने के साथ ही बालों को पोषित करने का भी काम करता है. एक कप दही में एक चम्मच बेकिंग सोडा मिला लें. इस पैक को स्कैल्प में लगाएं. कुछ ही दिनों में आपको फर्क नजर आने लगेगा.

 

नीम और तुलसी का पानी
नीम और तुलसी की कुछ पत्तियों को पानी में डालकर अच्छी तरह उबाल लें. जब बर्तन का पानी आधा रह जाए तो इसे छान लें और ठंडा होने के लिए रख दें. इस पानी से बालों को धोएं. कुछ बार के इस्तेमाल से ही रूसी की समस्या दूर हो जाएगी.

मुल्तानी मिट्टी
मुल्तानी मिट्टी पाउडर ले लें. इसमें apple cider vinegar मिला लें. बाद में इसे शैंपू की तरह इस्तेमाल करें. सप्ताह में दो बार ये उपाय करना फायदेमंद रहेगा.