dandruff सामान्य रूसी हर मौसम में एक सी रहती है. यह ड्राई भी और तेलीय दोनों तरह की होती है, इससे बचाव करने के लिए अपने बालों में शैम्पू का प्रयोग कम कर दें. हो सके तो हफ्ते में सिर्फ एक बार ही शैम्पू का प्रयोग करें. बालों को धूप से भी बचा कर रखें. हो सके तो बाहर जाते समय बालों को कवर कर लें.

ऑयली डैंड्रफ (oily dandruff) करता है परेशान 

ऑयली डैंड्रफ होने पर सिर में बहुत ज्यादा पसीना आता है और रूसी भी थोडी नम होती है. चाहे गर्मी हो या सर्दी हो ऑयली डैंड्रफ वाले व्यक्ति के सिर में हमेशा पसीना बालों की जडों पर रहता ही है. इन हालातों में सिर की त्वचा से भी तेल निकलता है.

ड्राई रूसी की समस्या (Dry dandruff problem)

ड्राई रूसी होने पर बालों के अन्दर की रूसी झडती है और बालों के ऊपर दिखाई देती है. सिर की त्वचा भी एकदम रूखी होती है. ड्राई रूसी से बचाव के लिए बालों में आंवले का तेल लगा कर उसे दो घंटे के लिए ऐसे ही छोड दें. उसके बाद तौलिए को गर्म पानी में भिगोकर सिर पर लपेट लें इससे बालों को स्टीम मिल जाएगी और तेल सिर के रोम छिद्रों को खोल कर बालों को सांस लेने में सहायता करेगा. साथ ही गर्म पानी की स्टीम इन्हें बन्द कर देगी जिससे तेल त्वचा के भीतर तक चला जाएगा.

फिक्सी डैंड्रफ भी है मुसीबत

यह भी अन्य की तरह बालों से संबंधित एक बीमारी है इसे सामान्य नहीं समझना चाहिए. यदि आपको फिक्सी रूसी है तो जल्द ही किसी डाक्टर से मिलें. फिक्सी रूसी बालों जडों के स्काल्प में जमी होती है जब भी आप बालों में कंघी करते हैं तो यह कंघे के साथ बालों की सतह पर उभरकर आ जाती है.

रूसी से बचने के लिए बालों का ख्याल तो रखना ही होता है साथ ही साथ खानपान का भी खासा ख्याल रखना पड़ता है। इन छोटी छोटी बातों का ख्याल रख कर आप अपने बालों से डैंड्रफ को दूर रख सकते हैं –

आपकी और आपके बालों की सेहत लिए बेहतर होगा कि पानी का सेवन अधिक करें.

अगर रूसी की समस्या बहुत ज्‍यादा है, तो ऑजोन ट्रीटमेंट भी ली जा सकती है.

विटामिन सी का सेवन करें। भोजन में दालों, सेम फल व हरी सब्जियों का ज्‍यादा सेवन करें.

भोजन में सलाद को जरूर शामिल करें. रेशेदार भोजन बालों के लिए काफी फायदेमंद होता है.

ज्यादा रूखी त्वचा वाले लोग बालों में नीबू का ज्यादा इस्तेमाल न करें, क्योंकि यह सिर की त्वचा को और अधिक रूखा बना सकता है.

सरसों का तेल, नारियल का तेल और कैस्टर के तेल को आपस में मिला लें और सिर पर उंगलियों की सहायता से मालिश करें.

एक बात का विशेष ध्यान रखें कि बालों की मालिश करते समय हथेली का प्रयोग न करें ऐसा करने से बालों की जडे कमजोर हो सकती हैं.

नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर उसे ठंडा करके बाल धोएं.

बालों को धोने के लिए चावल के उबले पानी में शिकाकाई पाउडर को मिला लें और इस घोल को सिर धोने के काम में लाएं.