सीएम से न्याय मांगना महिला टीचर को पड़ा महंगा, हो गई सस्पेंड

207

उत्तराखंड में सीएम आवास पर लगे जनता दरबार में जनसुनवाई के बीच गुरुवार को हंगामे की स्थिति बन गई। सीएम आवास पर लगे एक जनता दरबार में अपने स्थानांतरण की मांग पूरी ना होने पर एक शिक्षिका ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान शिक्षिका ने सीएम के खिलाफ भी जमकर बयानबाजी की, वहीं इस पूरे मामले के बाद गुस्से में आए सीएम ने शिक्षिका को निलंबित करते हुए उसे गिरफ्तार करने का आदेश भी दे दिया।

महिला शिक्षिका विधवा है और 20 से अधिक वक्त से दुर्गम उत्तरकाशी में तैनात है। अपने बच्चों की देखभाल और उनके साथ रहने के लिए महिला पिछले काफी दिनों से अधिकारियों के चक्कर लगा रही है। खुद सीएम से भी पांच महीने पहले मिल चुकी है लेकिन सीएम के आश्वासन के बावजूद कुछ नहीं हुआ।

यह भी पढ़े :   धारचुला के आपदा ग्रस्त इलाकों में हरीश रावत पहुंच गए, सरकार का कोई मंत्री क्यों नहीं?

वहीं सीएम के नाराज होने के बाद महिला अध्यापिका को सस्पेंड कर दिया गया है।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here