नागरिकता।। देश भर में प्रदर्शन, कई जगह हिंसा, आगजनी

142

नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर देशभर के कई स्थानों पर विरोध प्रदर्शन जारी है। कई जगह ये प्रदर्शन हिंसक हो गया है। कई जगहों पर आगजनी भी हुई है।

दिल्ली में कई हिरासत में

दिल्ली में प्रदर्शन के दौरान योगेंद्र यादव, उमर खालिद, संदीप दीक्षित, सीताराम येचुरी सहित सैकड़ों की संख्या में अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया है। बंगलूरू में इतिहासकार रामचंद्र गुहा को भी हिरासत में लिया गया है। दिल्ली में 20 मेट्रो स्टेशनों को ऐतिहातन बंद कर दिया गया है। वहीं दिल्ली के कुछ इलाकों में इंटरनेट और मोबाइल सेवा भी रोक दी गई है। यूपी के संभल में प्रदर्शनकारियों ने बस में आग लगा दी। गुजरात में पुलिस ने लाठीचार्ज किया है।

यह भी पढ़े :   अब अमेरिका में भी tiktok को बैन करने की मांग, सुरक्षा के लिए बताया खतरा

दिल्ली में राजीव चौक समेत 20 मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए गए हैं। जो मेट्रो स्टेशन बंद हैं उनके नाम हैं- राजीव चौक, जनपथ, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, जसोला विहार, शाहीन बाग, मुनिर्का, लाल किला, जामा मस्जिद, चांदनी चौक, विश्वविद्यालय, पटेल चौक, लोक कल्याण मार्ग, उद्योग भवन, आईटीओ, प्रगति मैदान, खान मार्केट, केंद्रीय सचिवालय, मंडी हाउस वसंत विहार और बाराखंबा मेट्रो स्टेशन। हालांकि केंद्रीय सचिवालय और मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन पर गाड़ियों का इंटरचेंज जारी रहेगा।

 

यूपी में कई जगह आगजनी

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया है। प्रदर्शनकारियों ने यहां पुलिस पर पथराव किया और नारेबाजी की। इस दौरान प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। वहीं मदेहगंज चौकी में चौकी के पास तोड़ फोड़ और आगजनी की गई है। गंज में प्रदर्शनकारियों पर लाठी चार्ज की गई है। वहीं लखनऊ के हसनगंज में वाहनों में आग लगा दी गई। हजरतगंज में भी प्रदर्शन हो रहा है।

यह भी पढ़े :   बड़ा खुलासा। दलाल ने बनाया था दून RTO का फर्जी ट्रांसफर लेटर, सौदेबाजी की बात भी आई सामने

सम्भल जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा के बाद इंटरनेट सेवाओं को अगले आदेश तक निलंबित कर दिया गया है। वहीं गोरखपुर में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में प्रदर्शन किया।

 




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here