लॉकडाउन में मिलने वाली छूट को लेकर अब भी कन्फ्यूज हैं तो ये पढ़िए

248

अगर आप 20 अप्रैल के बाद लॉकडाउन में होने वाले बदलावों को लेकर अब भी कन्फ्यूज हैं तो ये पोस्ट आपके लिए है। हम यहां संक्षेप में आपको बताने की कोशिश कर रहें हैं कि 20 अप्रैल के बाद किसको लॉकडाउन में छूट मिलेगी और कैसे मिलेगी। इस संबंध में गृह मंत्रालय ने एक विस्तृत गाइडलाइन जारी की है। अहम बात ये है कि ये छूट निश्चित शर्तों के साथ सिर्फ उन इलाकों में मिलेगी जो हॉट स्पाट, क्लस्टर्स या फिर कंटनेमेंट जोन की श्रेणी में नहीं आते हैं।

आइए समझते हैं कि किनको छूट मिलेगी।

  • ग्रामीण क्षेत्रों में खेती, बागवानी, कृषि से जुड़ी गतिविधियों की अनुमति होगी।
  • कृषि से जुड़े सामानों, कलपुर्जों, सप्लाई चेन, मरम्मत आदि का काम हो सकेगा।
  • गौशालाएं खुलेंगी, जानवरों के शेल्टर भी खुल सकेंगे।
  • स्वास्थ सेवाएं जारी रहेंगी। आयुष सेवाएं भी शुरु हो सकेंगी।
  • मनरेगा के तहत कार्य कराए जा सकते हैं लेकिन सोशल डिस्टेंस के फार्मूला का सख्ती से पालन करना होगा।
  • दवा बनाने वाली कंपनियां और मेडिकल उपकरण बनाने वाले कारख़ाने खुल सकेंगे।
  • चाय, कॉफी, रबर प्लांटेशन के काम को पचास फीसदी कर्मचारियों के साथ कराया जा सकता है।
  • तेल और गैस सेक्टर से जुड़ी गतिविधियां जारी रहेंगी।
  • पोस्टल सेवाएं शुरु हो सकेंगी, पोस्ट ऑफिस खुलेंगे।
  • निर्माण कार्यों की अनुमति होगी।
  • हाइवे पर बने ढाबे और ट्रकों को रिपेयर करने वाली दुकानें खुल सकेंगी।
  • सरकारी कामकाज करने वाले कॉल सेंटर खुल सकेंगे।
  •  इलेक्ट्रिशियन, आईटी रिपेयरिंग वाले, पलंबर, मोटर मैकेनिक, कार्पेंटर और इसी तरह के स्वरोज़गार वाले लोगों को काम करने की इजाज़त होगी.
  • ग्रामीण इलाक़ों और औद्योगिक इलाकों में स्थापित उद्योग धंधों को खोलने की इजाज़त होगी लेकिन इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग का सख़्ती से पालन करना होगा।
  • बैंक और एटीएम खुले रहेंगे
  • फल सब्जी, दवा, राशन, दूध, मीट और सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकाने खुल सकेंगी।
  • केंद्र और राज्य सरकारों के दफ्तर खुलेंगे।
  • शेयर मार्केट खुला रहेगा।

किसी भी राज्य सरकार या केंद्र शासित प्रदेश को इन गाइडलाइन को नज़रअंदाज़ करने की अनुमति नहीं होगी. अलबत्ता राज्य या केंद्र शासित प्रदेश चाहें तो अपने स्थानीय ज़रूरतों के अनुसार लॉकडाउन को और ज़्यादा सख़्त बना सकते हैं.

सरकार ने कहा है कि सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क पहनना अनिवार्य है या किसी अन्य तरीके से चेहरा को ढंकना जरूरी है।

यह भी पढ़े :   Unlock -2 की गाइड लाइन जारी, स्कूलों, जिम, सिनेमाघरों को लेकर ये हुआ फैसला

इसके साथ ही सरकार ने साफ किया है कि रेल, मेट्रो, सड़क और हवाई यात्रा तीन मई तक बंद रहेंगे। शॉपिंग मॉल, सिनेमाघर, ऑडिटोरियम, खेल परिसर, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, बार, जिम, रेस्त्रां वग़ैरह भी बंद रहेंगे।

स्कूल, कॉलेज और सभी शिक्षण संस्थान भी तीन मई तक बंद रहेंगे. लेकिन इन संस्थानों को अकादमिक सेशन को मेंटेन करना होगा। इसके लिए वे ऑनलाइन क्लासेज़ का सहारा ले सकते हैं. इसके लिए दूरदर्शन और दूसरे शैक्षणिक चैनलों की भी मदद ली जा सकती है.

मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे, चर्च और किसी भी तरह के धार्मिक स्थल पूरी तरह बंद रहेंगे. इसके लिए किसी भी तरह के धार्मिक आयोजन की भी अनुमति नहीं होगी.

यह भी पढ़े :   7 दिन में बाबा रामदेव के बदले सुर, कोरोना की दवा पर अब ये दिया बयान

शादी-विवाह, सार्वजनिक कार्यक्रम, सामाजिक उत्सव, सांस्कृतिक कार्यक्रम, सेमिनार, राजनीतिक कार्यक्रम, कॉन्फ़्रेंस, खेल आयोजन पर भी पाबंदी लगी रहेगी.

अंतिम संस्कार में 20 से ज़्यादा लोगों को शामिल होने की अनुमति नहीं होगी.

यहां ये याद रखना जरूरी है कि लॉकडाउन में छूट सिर्फ हॉटस्पाट या कंटेनमेंट जोन या क्लस्टर्स की श्रेणी में न आने वाले इलाकों में ही दी जाएगी। हालांकि छूट का मतलब ये कतई नहीं है कि आप सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना से बचाव के अन्य एहतियाती उपायों को नहीं करेंगे।

क्या राहुल गांधी वो सच कह गए जिससे मोदी सरकार अब तक बचती रही?

 




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here