रक्षाबंधन से पहले मलबे में दफन हो गए भाई बहन, पुरानी तस्वीरें देख रो पड़े लोग

403

टिहरी के हिंडोलाखाल में हुए एक हादसे ने पूरे उत्तराखंड के लोगों को गहरा सदमा दिया है। रक्षाबंधन के चार दिन पहले भाई और बहन एक साथ एक ही घर में दबकर काल के गाल में समा गए। जिसने भी ये खबर सुनी उसकी आखों में पानी भर आया।

 

टिहरी के हिंडोलाखाल के पास खेड़ा गांव के ऊपर से ऑल वेदर रोड का काम चल रहा है। इस ऑल वेदर रोड के लिए निर्माणदायी संस्था ने एक पुश्ता बनाया है। बारिश के मौसम में ये पुश्ता ढह गया और सड़क के नीचे धर्म सिंह के मकान पर जा गिरा। मलबा इतना अधिक था कि पूरा मकान इसकी चपेट में आ गया। संयोग से मलबा गिरने से ठीक पहले धर्म सिंह शौच के लिए घर से बाहर निकल आए थे। इसी बीच उनके सामने ही ऑल वेदर रोड का भारी भरकम पुश्ता उनके मकान पर आ गिरा।

यह भी पढ़े :   घर से रोज निकलना है जरूरी तो अपनाएं ये उपाय, दूर रहेगा Corona, परिवार रहेगा स्वस्थ

 

धर्म सिंह के मकान में सो रहे उनके बच्चे, बेटी विनीता (25), बेटा अंकित (18) और धर्म सिंह के साढ़ू की बेटी नीलम (18) मकान में ही दब गए। मलबा इतना अधिक था कि इन बच्चों को बचने का मौका भी नहीं मिला। मलबे को हटाने का काम तकरीबन एक घंटे बाद शुरु हो पाया। तब तक बच्चों की जान जा चुकी थी। मलबा इतना अधिक था कि उसे हटाने में तकरीबन चार घंटे का समय लग गया। तकरीबन साढ़े नौ बजे के आसपास मलबे में शव निकलने शुरु हुए। तीनों बच्चों के शव कुछ कुछ देर में निकाले गए। इसके बाद धर्म सिंह के ऊपर दुखों का पहाड़ गिर पड़ा। अपने घर के बच्चों के शव देखकर वो सदमे में आ गए।

यह भी पढ़े :   केरल विमान हादसे में 18 लोगों की मौत, फ्लाइट डाटा रिकार्डर बरामद, देखिए तस्वीरें

 

धर्म सिंह की पत्नी इन दिनों अपने माएके गईं हुईं थीं। घटना की सूचना पाकर वो रोते बिलखते अपने घर पहुंची। अपने बच्चों के शव देखकर वो बेहोश हो गईं। किसी तरह लोगों ने उन्हें संभाला।

 

लोग विनीता और अंकित की वो पुरानी फोटो शेयर कर रहें हैं जो रक्षा बंधन की एक पुरानी फोटो है। इनमें भाई बहने दोनों बेहद खुश नजर आ रहे हैं। पूरा इलाका इस घटना से दुखी है।

राफेल क्यों है वायुसेना के लिए इतना खास, पढ़िए इससे जुड़े कई सवालों के जवाब

 




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here