कैसे लीक हुई विशाखापट्टनम में फैक्ट्री से गैस? कैसे सड़कों पर चलते चलते गिरने लगे लोग?

199

vishakhapattanamआंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में LG POLYMER फैक्ट्री से फैली जहरीली गैस ने खबर लिखे जाने तक 10 लोगों की जान ले ली है। बताया जा रहा है कि रात तकरीबन 2.30 बजे ये गैस रिसने शुरु हुई। धीरे धीरे ये वातावरण में फैलने लगी। जल्द ही इसने आस पास के कई गांवों को चपेट में ले लिया। फिलहाल तीन सौ से अधिक लोग गंभीर हालत में हैं.  जिस वक्त गैस का रिसाव हुआ तब फैक्ट्री के आस-पास करीब 2000 लोग थे.

सैकड़ों लोग सिर दर्द, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ के कारण अस्पताल पहुंचाए गए. पांच गांव खाली करा लिए गए. घंटों मेहनत के बाद रिसाव पर काबू पा लिया गया है. इसके साथ ही फैक्ट्री के आस-पास से 3 हजार लोगों का रेस्क्यू किया गया है. कई लोगों को अस्पताल में एडमिट कराया गया है.

यह भी पढ़े :   सीएम त्रिवेंद्र बैठे करने ई संवाद, नेट ही नहीं हुआ कनेक्ट, दे दिए जांच के आदेश

सरकारी अस्पताल में 10 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 20 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है. इसमें अधिकतर बुजुर्ग और बच्चे हैं. बताया जा रहा है कि सरकारी अस्पताल में 150-170 से ज्यादा लोग भर्ती कराए गए हैं. इसके अलावा कई लोगों को गोपालपुरम के प्राइवेट अस्पताल में भी भर्ती कराया गया है.

शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार पीवीसी या स्टेरेने गैस का रिसाव हुआ है. रिसाव की शुरुआत सुबह 2.30 बजे हुई. गैस रिसाव की चपेट में आस-पास के सैकड़ों लोग आ गए और कई लोग बेहोश हो गए, जबकि कुछ लोगों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है.

यह भी पढ़े :   कोरोना। उत्तराखंड में हालात गंभीर, फिर मिले 78 नए मरीज

फैक्ट्री से गैस कैसे लीक हुई इसका पता अभी नहीं चल पाया है लेकिन सूत्रों की माने तो वॉल्व खराब होने की वजह से ये हादसा हुआ है।

फैक्ट्री के आसपास के इलाके को लगभग खाली करा लिया गया है। घरों के दरवाजे और खिड़कियां तोड़ कर लोगों की तलाश की जा रही है। जहरीली गैस के संपर्क में आने से लोग बड़े पैमाने पर बेहोश होकर गिरने लगे थे। कई लोग तो चलते चलते ही सड़कों पर गिर गए। प्रशासन को आशंका है कि कुछ लोग घरों के अंदर भी बेहोशी की हालत में हो सकते हैं।

 

 

यह भी पढ़े :   गांव - घर लौटे बच्चों को वहीं के स्कूलों में दाखिला देने की तैयारी, HRD मंत्रालय का बड़ा फैसला

 




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here