ताली – थाली पर पीएम मोदी की अपील मानने वाले लोग क्यों बदल गए? लॉकडाउन क्यों मजाक बन गया?

288

कोरोना को खतरे को कम करने के लिए पूरे भारत के 75 शहरों में लगाया गया लॉकडाउन फिलहाल लोगों की मजबूरियों के सामने मजाक बन कर रह गया है। हालात ये हैं कि लोग बेहद घबराए हुए हैं और लॉकडाउन को मानने के लिए तैयार नहीं हैं। नोएडा, मुंबई जैसे शहरों में तो सुबह के समय बड़ी संख्या में लोग अपनी गाड़ियों से बाहर निकल जा रहें हैं। हालात ये हो रहें हैं कि कई जगहों पर ट्रैफिक जाम हो गया।

कोरोना के खतरे को कम करने के लिए और इसे समूह में फैलने से रोकने के लिए सरकार ने 75 शहरों में लॉकडाउन का ऐलान किया है। ये लॉकडाउन 31 मार्च तक के लिए है। इसका अहम मकसद कम्यूनिटी में कोरोना को फैलने से रोकना है। हालांकि इस अपील का पहले दिन कुछ खास असर देखने को नहीं मिला। कई जगहों पर लोग घरों से बाहर निकले। हालात ये हुए कि पीएम मोदी ने ट्वीटर पर लोगों को लॉकडाउन के प्रति गंभीर होने के लिए फिर से संदेश लिखा। हालांकि इसका भी कोई खास असर नहीं हुआ। इसके बाद राज्यों को अपने स्तर से कर्फ्यू का ऐलान करना पड़ा। पंजाब और राजस्थान और महाराष्ट्र में पूरी तरह से या फिर कुछ कुछ हिस्सों में कर्फ्यू लगा दिया गया।

यह भी पढ़े :   बाबा रामदेव को हाईकोर्ट का नोटिस, दवा पर एक हफ्ते में मांगा जवाब

लॉकडाउन के दूसरे दिन हालात कुछ तो सुधरे लेकिन पूरी तरह से असर फिर भी नहीं दिखा। हालात ये हुए कि कई बड़े शहरों में लोग सड़कों पर निकलने लगे। यूपी में हालात कुछ अधिक बिगड़े तो पुलिस ने अपने अंदाज में लोगों को घरों में धकेलना शुरु किया। हालांकि इसके बावजूद स्थिती काबू में नहीं हुई।

ऐसे में बड़ा सवाल तो यही है कि आखिर घरों में रहने की पीएम नरेंद्र मोदी की नसीहत क्यों काम नहीं कर रही है? पीएम नरेंद्र मोदी के कहने पर औरों के लिए थाली बजाने वाली जनता अपने लिए घरों में रहने के लिए तैयार क्यों नहीं है? ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी एक बार फिर से राष्ट्र के नाम संदेश देने वाले हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि वो लोगों से लॉकडाउन के सख्ती से पालन की अपील कर सकते हैं। हालांकि सवाल ये भी क्या खाद्य पदार्थों, सैनेटाइजर, मास्क जैसी बेहद जरूरी सामानों को लेकर सरकार की कोशिशों के प्रति जनता अब भी आश्वस्त नहीं है?

बड़ी खबर : देहरादून में कोरोना का एक और मरीज मिला, चार हुई संख्या

 




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here