उत्तराखंड में त्रिशूल पर्वत के आरोहण के लिए निकला नौसेना के पर्वतारोहियों का एक दल लापता हो गया है। जानकारी के मुताबिक दल के 10 जवान लापता हैं।


उत्तराखंड में त्रिशूल पर्वत के आरोहण के लिए निकला नौसेना के पर्वतारोहियों का एक दल लापता हो गया है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक नौसेना के दल के 6 जवान लापता हो गए हैं। बताया जा रहा है कि ये हादसा एवलांच आने की वजह से हुआ है।

त्रिशूल पर्वत के लिए नौसेना के 20 पर्वतारोहियों का एक दल निकला था। बताया जा रहा है कि सुबह ये दल जब पर्वत के आरोहण के लिए निकला तभी बड़ा एवलांच आया। इस एवलांच की चपेट में पर्वतारोही आ गए।

खबरों के अनुसार दल के छह सदस्य इस एवलांच की चपेट में आकर लापता हो गए। इस बात की सूचना स्थानीय प्रशासन को दी गई। इसके बाद नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ माउंटेयनियरिंग (NIM) को भी इस काम में लगाया गया। निम के प्रधानाचार्य कर्नल अमित बिष्ट के लिए नेतृत्व में एक टीम को बचाव कार्यों के लिए रवाना किया गया है।

TRISHUL RESCUE


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube


अमर उजाला ने अमित बिष्ट के हवाले से जानकारी दी है कि ये घटना सुबह तकरीबन पांच बजे के आसपास हुई है। नौसेना के दल के पांच पर्वतारोही और एक पोर्टर लापता है। उनका कुछ पता नहीं चल पा रहा है।

वहीं हेलीकॉप्टर की मदद से भी राहत कार्य शुरु किया गया है। हालांकि मौसम खराब होने की वजह से राहत कार्यों में खासी दिक्कतें आ रहीं हैं।

त्रिशूल पर्वत पर आरोहण बेहद दुरूह माना जाता है। ऐसे मौसम में ये कार्य और भी मुश्किल हो जाता है। चमोली और बागेश्वर की सीमा पर ये पर्वत 7120 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

16 सालों तक बर्फ में दबा रहा सेना के जवान का शव, फिर ऐसे चला पता