कांग्रेस की राजनीति में बड़े फेरबदल हो गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह () ने चंडीगढ़ के राजभवन में राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित को इस्तीफा सौंपा।


amrinder singh इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह ने मीडिया से बातचीत में अगले सीएम के सवाल पर कहा, ये तीसरी बार हो रहा है कि विधायकों की मीटिंग की जा रही है। मेरी काम पर कोई शक था क्या? उन्होंने कहा, मैं अपमानित महसूस कर रहा हूं। अब जिसे मर्जी हो, सीएम बनाओ। पार्टी में रहने के सवाल पर अमरिंदर ने साफ तौर पर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। हालांकि मैं पार्टी के साथ हूं। भविष्य की राजनीति के विकल्प खुले रहेंगे। उन्होंने कहा, अपनी पार्टी के सदस्यों से चर्चा करने के बाद ही इस पर फैसला होगा।

पुष्कर सिंह धामी कर सकते हैं ये बड़ा ऐलान

इससे पहले कैप्टन के बेटे रणइंदर सिंह ने ट्वीट कर साफ कर दिया था कि पिता इस्तीफा देंगे। उन्होंने ट्वीट कर कहा, मुझे अपने पिता के साथ राजभवन जाने पर गर्व है जब वह पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में अपना इस्तीफा सौंपेंगे। वह हमें हमारे परिवार के मुखिया के रूप में एक नई शुरुआत की ओर ले जाएंगे। कहा जा रहा है कि अगले मुख्यमंत्री की रेस में सुनील जाखड़ का नाम सबसे आगे चल रहा है।

उत्तराखंड में 21 से खुलेंगे प्राइमरी तक के स्कूल, ये होगी गाइडलाइन

सीएम के मीडिया सलाहकार की इस पुष्टि के बाद तय हो गया था कि सीएम अमरिंदर सिंह 4.30 बजे राजभवन पहुंचेंगे। कांग्रेस ने “बड़ी संख्या में विधायकों के प्रतिनिधित्व” का हवाला देते हुए देर रात एक ट्वीट में, अपने पंजाब विधायकों की आज एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई थी। यह बैठक मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के लिए परेशानी का सबब बन गई, जो उन्हें हटाने की मांग कर रहे बागी नेताओं के निशाने पर थे।


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube