महाराज ने मुसीबत में डाला? उत्तराखंड में देवस्थानम बोर्ड को लेकर दिया ये बयान

162

उत्तराखंड में देवस्थानम बोर्ड अब विवादों में उलझता जा रहा है। राज्य के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने सीएम तीरथ से उलट बयान दिया है कि देवस्थानम बोर्ड को लेकर कोई पुर्नविचार नहीं किया जाएगा।


उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री satpal maharaj l
FILE

उत्तराखंड में देवस्थानम बोर्ड का मसला उलझता जा रहा है। राज्य के पर्यटन और संस्कृति मंत्री सतपाल ने एक नया बयान दे डाला है। सतपाल महाराज ने कहा है कि देवस्थानम बोर्ड को लेकर कोई पुनर्विचार नहीं होगा। दिलचस्प ये है कि सीएम तीरथ सिंह रावत देवस्थानम बोर्ड पर पुनर्विचार की बात कह चुके हैं। ऐसे में साफ है कि राज्य सरकार में देवस्थानम बोर्ड के निर्माण को लेकर भी फिलहाल एक राय नहीं रह गई है। मुख्यमंत्री कुछ कह रहें हैं और मंत्री कुछ और।

 

त्रिवेंद्र ने बनाया था

गौरतलब है कि राज्य के कई मंदिरों की व्यवस्था को संभालने के लिए त्रिवेंद्र सरकार में देवस्थानम बोर्ड बनाया गया था। पंडा पुरोहितों ने इसका खासा विरोध किया था। पंडा पुरोहितों ने बोर्ड को उनके हितों के खिलाफ बताया था। कई दिनों तक प्रदर्शन भी हुई। लेकिन तमाम विरोधों को दरकिनार करते हुए तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देवस्थानम बोर्ड का गठन कर दिया और चार धामों के मंदिरों की कई व्यवस्थाओं को बोर्ड के हाथों में सौंप दिया।

 

तीरथ ने दिखाई थी नरमी

मार्च में मुख्यमंत्री बदलने के साथ ही देवस्थानम बोर्ड को लेकर फिर चर्चा शुरु हुई तो नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने देवस्थानम बोर्ड के गठन को लेकर पुर्नविचार का आश्वासन दे दिया। इसके बाद पंडा पुरोहितों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। वो ये मानकर चल रहे थे कि बोर्ड भंग किया जा सकता है। हालांकि सतपाल महाराज के बयान से उन्हें धक्का पहुंचेगा


समाचारों के लिए हमें ईमेल करें – khabardevbhoomi@gmail.com। हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube