2019 चुनावों में हार के डर से परेशान बीजेपी अब काटेगी अपने दिग्गजों का टिकट!

190

2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। आनंद बाजार पत्रिका की एक रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी 150 सांसदों का टिकट काट सकती है। इस लिस्ट में काफी वरिष्ठ नेताओं के नाम भी शामिल हैं।

इस सूची में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, उमा भारती, राधा मोहन सिंह, सुमित्रा महाजन, मुरली मनोहर जोशी, करिया मुंडा, शांता कुमार और बीसी खंडूडी के नाम शामिल हैं। इनके टिकट काटने के अलग-अलग कारण बताए जा रहे हैं।

मंत्री सुषमा स्वराज का टिकट बीमारी के नाम पर कटा जा सकता है। जबकि जबकि खबर के मुताबिक केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती, कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने खुद पार्टी से कहा है कि वो अगला चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं।

यह भी पढ़े :   मशहूर शायर राहत इंदौरी भी कोरोना की चपेट में, अस्पताल में एडमिट

वहीं मुरली मनोहर जोशी, करिया मुंडा, शांता कुमार और बीसी खंडूरी के टिकट बढ़ती उम्र के नाम पर काटे जा सकते हैं। हालांकि लालकृष्ण आडवाणी अपवाद हैं उनका टिकट काटा जाएगा या नहीं अभी इस बात का कोई जिक्र नहीं है। पटना से शत्रुघ्न सिन्हा, दरभंगा को कीर्ति आजाद का टिकट भी काटा जा सकता है।

बता दें कि इस सूची में आधा दर्जन युवा मंत्री हो सकते हैं। अभी भाजपा के पास राजस्थान में 25 सीटें, हिमाचल में 4, दिल्ली में 7, उत्तर प्रदेश में 80 सीटों में से 71, छत्तीसगढ़ में 11 में से 10, मध्य प्रदेश में 29 में से 27 सीटें हैं। भाजपा को डर है कि इन राज्यों में पार्टी की सीटें आधी हो सकती हैं। यही कारण है की भाजपा 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर अपनी रणनीति में बड़ा बदलाव कर रही है।

यह भी पढ़े :   'GUNJAN SAXENA' में गलत छवि दिखाए जाने से नाराज हुई AIR FORCE

भाजपा ने इस बारे में आरएसएस के साथ भी इस मुद्दे पर चर्चा की है। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने मौजूदा 200 सासंदों का टिकट काटने का प्रस्ताव दिया था लेकिन बाद में इन्हें घटाकर 150 किया गया है। यही नहीं पार्टी प्रधानमंत्री नमो ऐप के माध्यम से और कई गैर-सरकारी संगठनों के माध्यम से सांसदों के काम का मूल्यांकन कर रही हैं। कई संसदों को सही से काम करने की चेतावनी भी दी गई है। भाजपा असम, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल में सीटों को बढ़ाने की कोशिश कर रही हैं।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here