अशोक गहलोत ने पायलट को बताया निकम्मा, पायलट बोले उदास हूं पर हैरान नहीं

164

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज पत्रकारों से बातचीत में एक तरफ जहां सचिन पायलट को निकम्मा और नाकारा बताया है तो वहीं दूसरी ओर इस सियासी घमासान में पहली बार सचिन पायलट ने कुछ बोला है उन्होंने कहा है कि मैं उदास हूं पर हैरान नहीं । यह पूरी तरीके से बेबुनियाद है और मुझ पर ऐसे बेबुनियाद आरोप लगते ही रहे हैं सचिन पायलट ने कहा है कि यह मुझे बदनाम करने की एक कोशिश है और असली मुद्दों से ध्यान भटकाने का प्रयास।

आपको बता दें कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि आपने कहीं ऐसा सुना है कि प्रदेश का पार्टी अध्यक्ष ही अपनी सरकार को गिराने की कोशिश करे। अशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर अपनी नाराजगी जताते हुए उन्हें पीठ में छुरा भोंकने वाला बताया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सचिन पायलट को काफी कम उम्र में बहुत कुछ मिल गया था। सीएम ने कहा कि उन्हें पता था कि सचिन पायलट नाकारा थे। तो वहीं दूसरी तरफ सचिन पायलट ने यह कहा है कि मैं यह मुद्दा उठा रहा हूं और आगे भी मैं यह मुद्दा उठाता रहूंगा उचित कानूनी कार्रवाई भी करूंगा।

यह भी पढ़े :   उत्तराखंड में कोरोना के 278 नए मरीजों की पुष्टि

इधर अशोक गहलोत ने दावा किया कि आज सचिन पायलट के समर्थन में जितने वकील केस लड़ रहे हैं, सभी महंगी फीस वाले हैं तो उनका पैसा कहां से आ रहा है। क्या सचिन पायलट सभी को खुद पैसा दे रहे हैं? गहलोत का यह आरोप है कि सचिन पायलट के वकील को फंडिंग मुंबई के कॉरपोरेट जगत से मिल रही है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का यह कहना है कि बीजेपी इसके पीछे खेल कर रही है। जो विधायक हमारे यहां पर रुके हैं, उन्हें पूरी छूट है वह जब चाहे किसी से मिल सकते हैं अपने मोबाइल का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन मानेसर में विधायकों के मोबाइल छीन लिए गए हैं, विधायक रो रहे हैं।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here