गजब!, जीती तो महिला लेकिन शपथ ली पति ने, अब होगी जांच

233

जिला पंचायत के नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथ ग्रहण समारोह में महिला जिला पंचायत सदस्य की बजाए उसके पति ने ही शपथ ले ली। शपथ दिलाने वाले अधिकारी और चेयरमैन भी यह सब रोकने की बजाए पति को सहयोग करते हुए नजर आए।

जिला पंचायत सदस्य की खाली हुई मानकपुर आदमपुर सीट एवं जमालपुर कलां पर 19 जून को मतदान और 22 जून को मतगणना हुई थी। जमालपुर कलां में शशि और मानकपुर आदमपुर सीट से सुभाष वर्मा निर्वाचित हुए थे। जिला पंचायत कार्यालय में दोनों नए निर्वाचित सदस्यों का शपथ ग्रहण समारोह हुआ लेकिन शपथ ग्रहण समारोह में जमालपुर से निर्वाचित सदस्य शशि के पति प्रमिल न केवल उनके साथ कार्यक्रम में पहुंचे, बल्कि शपथ ग्रहण समारोह में पत्नी के बराबर में शपथ पत्र लेकर खड़े हो गए।

यह भी पढ़े :   अयोध्या पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, 5 अगस्त को दोपहर 12:30 बजे होगा भूमि पूजन

 

इसके बाद जो हुआ वह शायद हरिद्वार जिला पंचायत के इतिहास में पहली बार हुआ होगा, क्योंकि जिला पंचायत सदस्य के पति ने ही शपथ ले ली। जिला पंचायत अध्यक्ष सविता चौधरी निर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाती रहीं और शशि की बजाए उनके पति शपथ लेते रहे। यह सब नजारा अपर मुख्य अधिकारी राजीव कुमार नाथ त्रिपाठी भी न केवल देखते रहे, बल्कि शपथ दिलाने में पति को सहयोग करते रहे।

राजीव कुमार नाथ त्रिपाठी (अपर मुख्य अधिकारी, जिपं हरिद्वार) का कहना है कि निर्वाचित महिला कम पढ़ी-लिखी होंगी, इसके कारण वह ठीक ढंग से शपथ लेने के दौरान बोल नहीं सकी। इसलिए उनके पति ने सहयोग किया, लेकिन उनके पति ने शपथ नहीं ली। अगर फिर भी ऐसा है तो शपथ ग्रहण समारोह की रिकॉर्डिंग की जांच की जाएगी। रिकॉर्डिंग की जांच के बाद ही जो जरूरी होगा वह किया जाएगा।

यह भी पढ़े :   राम मंदिर : निमंत्रण पत्र में लगा है खास तरीके का सिक्योरिटी कोड, जाने और क्या है खास

जिलाधिकारी दीपक रावत कहा है कि अगर उसके पति ने शपथ ग्रहण की है तो मामले की जांच की जाएगी। अगर जांच के बाद मामला सही पाया गया तो संबंधित दोषी अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here