जम्मू कश्मीर में एक और पुलिसकर्मी की अगवा कर हत्या की, शव बरामद

223

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकियों द्वारा पुलिसकर्मी को अगवा कर उसकी हत्या कर दी गई है। गुरुवार शाम को ही आतंकियों ने शोपियां से पुलिसकर्मी जावेद अहमद डार को अगवा किया था, जिसके बाद उनका शव कुलगाम से मिला। फिलहाल, इस वारदात की जिम्मेदारी किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली है। कुछ दिनों पहले ही आतंकियों ने सेना के जवान औरंगजेब की अगवा कर हत्या कर दी थी। जावेद को उस वक्त अगवा किया गया जब वो एक मेडिकल शॉप पर दवा लेने जा रहा था।

आतंकियों द्वारा बीती रात अगवा किए गए पुलिस कांस्टेबल का गोलियों से छलनी शव शुक्रवार की सुबह परिवन कुलगाम में मिला। लेकिन सुरक्षाबलों को संदेह है कि इस हत्या को सेना के भगौड़े जहूर ठोकर की अगुआई में सक्रिय हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों ने अंजाम दिया है। इस बीच, शहीद कांस्टेबल का  तिरंगे में लिपटा पार्थिव शरीर जिला पुलिस लाईन शोपियां में एक भावपूर्ण श्रद्धांजली समारोह के बाद उसके परिजनों के हवाले कर दिया गया।

यह भी पढ़े :   ITBP के 34 जवानों में कोरोना की पुष्टि, सेना के भी 14 जवान संक्रमित

गौरतलब है कि वीरवार की रात को जिला शोपियां के वेईल कचडूरा गांव में पुलिस कांस्टेबल जावेद अहमद डार उर्फ जज डार दवा लेने के लिए अपने घर से बाजार निकला था। लेकिन घर से कुछ ही दूरी पर उसे स्वचालित हथियारों से लैस तीन अातंकियों ने पकड़ लिया और वह उसे एक सैंट्रो कार में उसे अगवा कर अपने साथ ले गए। पुलिस, सेनाऔर सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने उसे आतंकियों की चंगुल से मुक्त कराने के लिए उसी समय एक तलाशी अभियान चलाया ,लेकिन कोई सुराग नहीं मिला।

आज सुबह शोपियां के साथ सटे जिला कुलगाम में परिवन गांव के लोगों ने गांव के बाहरी छोर पर जावेद अहमद डार का गोलियों से छलनी शव सड़क पर पड़े देखा। उन्होंने उसी समय पुलिस को सूचित किया। सूचना मिलते ही पुलिस दल मौके पर पहुंचा और उसने शव को अपने कब्जे में लिया। छानबीन के दौरान पता चला कि शव बीती रात अगवा किए गए पुलिस कांस्टेबल जावेद अहमद डार का है।जावेद अहमद डार जिला शोपियां के पूर्व एसएसपी शैलेंद्र मिश्रा का अंगरक्षक भी था।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here