उत्तराखंड में सरकार का चेहरा बदलने के बाद से ही अफसरों के विभागों में फेरबदल भी जारी है। अब राज्य के कुमाऊं मंडल के नए कमिश्नर सुशील कुमार बनाए गए हैं। हालांकि नए कमिश्नर की तैनाती को लेकर विवाद होने लगा है।


sushil kumar ias uttarakhand

उत्तराखंड में सीएम पद की कुर्सी संभालने के बाद पुष्कर धामी अपने हिसाब से अधिकारियों को पोस्टिंग दे रहें हैं। पिछले कुछ दिनों में कई अधिकारियों के विभागों में फेरबदल किया गया है। शुक्रवार को शासन ने कुमाऊं का नया कमिश्नर नियुक्त किया है। कुमाऊं का कमिश्नर सुशील कुमार को बनाया गया है। सुशील कुमार का विवादों से खासा नाता रहा है। अब सीएम धामी के जरिए सुशील कुमार को कमिश्नर के तौर पर चुनने पर भी सवाल उठ रहें हैं।

महिला का आरोप

सुशील कुमार उस वक्त सुर्खियों में आ गए जब उनपर एक महिला ने शादी करके स्वीकार न करने का आरोप लगाया। मामला राष्ट्रीय महिला आयोग तक पहुंचा। इस विवाद को लेकर सुशील कुमार काफी दिनों तक चर्चाओं में रहे।

पौड़ी डीएम रहते भी विवाद

सुशील कुमार के पौड़ी डीएम रहते हुए भी विवादों से नाता बना रहा। शराब के ठेकों का पैसा जमा न होने से सुशील कुमार के ऊपर सवाल उठे। दिलचस्प ये भी है कि उस समय आबकारी विभाग के प्रमुख सचिव आनंद वर्धन थे जो मौजूदा सीएम के खासे करीबी अफसर हैं और अपर सचिव, मुख्यमंत्री की कमान संभाल रहें हैं।

ये भी पढ़िए – नाराज हुए सतपाल महाराज तो अधिकरियों को आया पसीना, देखिए वीडियो

अब सुशील कुमार की कुमाऊं कमिश्नर जैसी अहम तैनाती मिलने के बाद चर्चाएं जोरों पर हैं। हालात ये हैं कि कई अफसरों को भी समझ नहीं आ रहा है कि ये कैसे हुआ।

वहीं मुख्यमंत्री बनने के बाद पुष्कर धामी ने अफसरशाही में कई बड़े बदलाव किए हैं। धामी ने राज्य के मुख्य सचिव को ही बदल डाला। ओमप्रकाश को हटा कर दिल्ली से एसएस संधु को लाया गया और राज्य का मुख्य सचिव बना दिया गया। सीएम धामी के इस फैसले की भी खूब चर्चा हुई क्योंकि ओमप्रकाश खासे ताकतवर अफसर माने जाते थे।


समाचारों के लिए हमें ईमेल करें – khabardevbhoomi@gmail.com। हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube