देश में कोरोना की दूसरी लहर भले ही धीमी पड़ गई हो लेकिन मामले अब भी लगातार दर्ज हो रहे हैं. वहीं, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान की तैयार की गई रिपोर्ट में कोरोना की तीसरी लहर के सितंबर महीने में आशंका जाहिर की गई है.


4th sero survey covid infections in india
बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान ने यह भी आशंका जाहिर की है कि तीसरी लहर सितंबर और अक्टूबर दोनों महीने परेशानी का सबब हो सकती है. हालांकि उसके बाद यह भी बताया गया है कि अक्टूबर के बाद हालात नॉर्मल होते चले जाएंगे. आपको बता दें, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान गृह मंत्रालय के अधीन आता है.

4 से 5 लाख कोरोना केस रोजाना आ सकते हैं- नीति आयोग

बता दें, देश में कोरोना से बने हालातों में सुधार को देखते हुए ज्यादातर सभी राज्य सरकारों ने प्रतिबंधों में काफी हद तक छूट दे दी है. हालांकि, तीसरी लहर को लेकर लगातार चेतावनी दी जा रही है. बता दें, नीति आयोग ने तीसरी लहर को लेकर जिस बात की आशंका जताई है वो काफी भयावह है. नीति आयोग के मुताबिक सितंबर में 4 से 5 लाख कोरोना केस रोजाना आ सकते हैं. हर 100 कोरोना मामलों में से 23 मामलों को अस्‍पताल में भर्ती कराने की व्‍यवस्‍‍था करनी पड़ सकती है. ऐसे में पहले से ही दो लाख आईसीयू बैड्स तैयार रखने की जरूरत है.

corona in india

ये भी पढ़िए – पद्मश्री कवि अशोक चक्रधर हादसे में घायल, कार से जा रहे थे मसूरी

 हालात से निपटने को रहें तैयार- नीति आयोग

द इंडियन एक्‍सप्रेस की ए‍क रिपोर्ट के अनुसार, नीति आयोग ने कोरोना की दूसरी लहर के बाद बड़ी संख्या में अस्पताल में कोविड बेड अलग रखने की सिफारिश की है. आयोग का कहना है कि खराब हालात से निपटने के लिए पहले से तैयार रहना होगा. सितंबर तक दो लाख आईसीयू बेड तैयार किए जाने चाहिए. इसके अलावा 1.2 लाख वेंटिलेटर वाले आईसीयू बेड, 7 लाख ऑक्सीजन वाले बेड और 10 लाख कोविड आइसोलेशन केयर बेड होने चाहिए.

नीति आयोग ने इससे पहले सितंबर 2020 में भी कोरोना की दूसरी लहर का अनुमान लगाया था. तब नीति आयोग ने 100 संक्रमितों में से गंभीर कोविड लक्षणों वाले लगभग 20 मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता बताई गई थी. लेकिन इस बार अनुमान पिछली बार से अधिक है.


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube