अयोध्या को केंद्र सरकार ने एक बड़ा तोहफा दिया है। केंद्र ने अयोध्या में होने वाली चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग को नेशनल हाइवे के तौर पर घोषित कर दिया है।


ayodhya chourasi kosi parikrama

अयोध्या को केंद्र सरकार ने एक और तोहफा दिया है। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को ट्वीट कर जानकारी दी कि अयोध्या में करीब 80 किलोमीटर की रिंग रोड और 275 किलोमीटर की अयोध्या चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग (84 Koshi Parikrama Marg) जल्द ही नेशनल हाइवे बन जाएंगे। इस रोड़ के नेशनल हाइवे बन जाने के बाद अयोध्या आने वाले पर्यटक 84 कोसी परिक्रमा फोरलेन मार्ग से कर सकेंगे।

बता दें कि चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग पांच जिलों में 275.35 किलोमीटर तक फैला हुआ है, इसमें अयोध्या, अंबेडकर नगर, बाराबंकी समेत गोंडा जिला भी आता है।

क्या है चौरासी कोस मार्ग

चौरासी कोसी मार्ग की बात करें तो अभी के समय में इस मार्ग की हालत बहुत खराब है। परिक्रमा करने वाले लोगों को नाव से नदी पार करना पड़ती है। 84 कोसी परिक्रमा मार्ग पर अलियाबाद, नियामत गंज, बारिन बाग, सहित तमाम कस्बे आते हैं। नेशनल हाईवे बनने से गोंडा, रायबरेली, अयोध्या, सुलतानपुर के लोग सीधे जुड़ जाएंगे।

इन पांच जिलों से गुजरती है

चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग राज्य के पांच जिलों से होकर गुजरता है। यह मार्ग अयोध्या, अंबेडकर नगर से पटरंगा होकर बाराबंकी के अलियाबाद, नियामतगंज से बारिनबाग होकर घाघरा सरयू तट मुर्तियनघाट से आगे गोंडा जिले में चरसड़ी तटबंध और गोंडा में राजापुर, बाबा सुमिरनदास कुटी होकर ऋषि नरहरदास की कुटी होते हुए पकरीबाद गोहानी से रामनगर चौराहा पहुंचता है। गोंडा जिले के तुलसीपुर को जोड़ते हुए कल्यानपुर से आगे बढ़कर जिला बस्ती में प्रवेश कर जाती है।

ये भी पढ़िए – उत्तराखंड में कोरोना के नए मरीज मिले, कोई मौत नहीं

जहां मखौड़ा धाम, नेदुला कोहराया होकर केनौना छावनी होते हुए जानकी रोड़ से विश्वेश्वरगंज के बाद फिर अयोध्या पहुंचती है। जिले के नदी उस पार के गांव माझा रायपुर, परसावल, कमियार, बांसगांव, असवा, टिकरी, ढेमा के लोगों को आने जाने के लिए नया मार्ग मिल जाएगा।

वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घोषणा के बाद खुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा है कि चौरासी कोस मार्ग को एनएच बनाया जाना अयोध्या के पुरातन गौरव की पुनर्स्थापना के लिए बढ़ाया गया बड़ा कदम है। यह आध्यात्मिक पर्यटन क्षेत्र को संबल प्रदान करेगा।


समाचारों के लिए हमें ईमेल करें – khabardevbhoomi@gmail.com। हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube