उत्तराखंड में दो अगस्त से कक्षा नौवीं से बारहवीं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोले जा रहें हैं। कक्षा छह से लेकर आठ तक के छात्रों के लिए 16 अगस्त से स्कूल खोले जाएंगे। इस संबंध में शिक्षा विभाग ने स्कूलों के लिए SOP जारी की है।


arvind pandey

 

इससे पहले राज्य के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने राज्य के शिक्षा विभाग के जरिए जारी की गई एसओपी को सार्वजनिक किया है। राज्य के शिक्षा विभाग ने राज्य में स्कूलों को खोलने के लिए मानच संचालन प्रक्रिया के पालन का फैसला लिया है।

 

इस एसओपी में इस बात की कोशिश की गई है कि बच्चों को संक्रमण से बचाया जा सके। इसके लिए सख्त नियम बनाए गए हैं। स्कूलों को इन नियमों का पालन सुनिश्चित करना होगा।

प्रोटोकॉल का पालन जरूरी

उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने ट्वीट कर सभी स्कूलों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया है। अरविंद पांडेय ने कहा है कि जिस कक्षा में छात्रों की संख्या अधिक है वहां कक्षाएं दो पालियों में चलेंगी।

file

ये भी पढ़िए – उत्तराखंड में कोरोना की रफ्तार आज धीमी, मौतें भी नहीं

ये है SOP

स्कूल खुलने से पहले सभी कक्षाओं, प्रयोगशालाओं, पुस्तकालयों, शौचालयों, पीने के पानी आदि ऐसे स्थानों पर जहां छात्रों और शिक्षकों की शारीरिक गतिविधियां होती हैं, उन्हें पूरी तरह से सेनेटाइज किया जाना चाहिए।

 

संबंधित स्कूल द्वारा एक नोडल अधिकारी नामित किया जाना चाहिए, जो सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड प्रोटोकॉल से संबंधित दिशा-निर्देशों के अनुपालन के लिए जिम्मेदार होगा।

 

यदि किसी छात्र या शिक्षक या स्कूल के अन्य स्टाफ में खांसी, जुकाम या बुखार के लक्षण दिखाई देते हैं तो उन्हें प्राथमिक उपचार देकर घर वापस भेज दिया जाएगा।

 

यदि विद्यालय के छात्रों, शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों को संक्रमण होता है, तो संबंधित प्राचार्य और नोडल अधिकारी को तत्काल जिला प्रशासन या स्वास्थ्य विभाग को सूचित करना आवश्यक होगा।


समाचारों के लिए हमें ईमेल करें – khabardevbhoomi@gmail.com। हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube