नैनीताल जिले से एक दर्दनाक हादसे की खबर मिली है। ओखलढूंगा के झूला पुल पर बर्थ डे मनाने गए पीरूमदारा क्षेत्र के आठ छात्रों में से दो की कोसी नदी में बहने से मौत हो गई।

uttarakhand news alert

नैनीताल से दुखद खबर है। मृतकों में वह छात्र भी शामिल है, जिसका गुरुवार को बर्थ डे था। उसके पिता पौड़ी गढ़वाल के थलीसैंण में जिला पंचायत सदस्य हैं। मृतक 12वीं के छात्र थे। छात्रों के शवों को घटनास्थल से करीब चार किमी दूर कुनखेत के पास बरामद किया गया।

जानकारी के मुताबिक पौड़ी गढ़वाल के थलीसैंण तहसील के चौराड़ी गांव निवासी जिला पंचायत सदस्य अमर सिंह का 18 वर्षीय बेटा महेंद्र सिंह नेगी पीरूमदारा के आरके पुरम सांई धाम कालोनी में अपने चाचा के दीपक सिंह नेगी के घर में रहकर पढ़ाई कर रहा था। गुरुवार को उसका बर्थ डे था।

ये भी पढ़िए – https://www.khabardevbhoomi.com/uttarakhand-stf-caught-two-cyber-frauds-from-pune-who-scams-for-ten-lakhs/Uttarakhand STF: इन्होंने साइबर ठगी कर खाते से उड़ाए दस लाख, पुलिस पुणे से उठा लाई

वह अपने दोस्तों शांतिकुंज गली नंबर दो निवासी सुमित सोढ़ी पुत्र विजय कुमार और पीरूमदारा निवासी गुरमेल सिंह, विशाल सिंह, अनमोल अग्रवाल, पवन कुमार, जतिन चौधरी और प्रकाश भाटिया के साथ ओखलढूंगा गया था। आठों चार बाइकों से गए थे।

दोपहर करीब 12 बजे सभी क्यारी और ओखलढूंगा के बीच झूला पुल पर पहुंच गए। यहां से महेंद्र नेगी और सुमित ने कोसी नदी में छलांग लगा दी। इस दौरान दो छात्र पानी के तेज बहाव में बह गए। दोनों को बहता देख अन्य छात्रों ने बचाने का प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिली। दोस्तों के चीखने की आवाज सुनकर वहां घोड़ों को चरा रहे व्यक्ति ने प्रधान प्रीति सिंह चौरसिया के पति रणजीत सिंह को सूचना दी। इसके बाद भतरौंजखान के एसओ को बताया गया।

पुलिस और एनडीआरएफ की टीम खोजबीन में जुटी तो दोनों के शव ओखलढूंगा से चार किमी दूर कुनखेत में मिले। पुलिस ने शवों को कब्जे में ले लिया और उनके परिजनों को सूचना दी। ओखलढूंगा की ग्राम प्रधान प्रीति चौरसिया ने बताया कि छात्र कोसी नदी में नहाने आए थे, लेकिन नदी के बहाव का अंदाजा नहीं लगा सके।


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube