आखिरकार IAS दीपक रावत (IAS Deepak Rawat) ने छह दिनों के इंतजार के बाद उत्तराखंड उर्जा निगम, पिटकुल और उरेडा के एमडी का पद संभाल लिया है। ट्रांसफर के कई दिनों बाद तक उन्होंने अपना कार्यभार संभाला है।


आईएएस दीपक रावत IAS Deepak Rawat

दीपक रावत ने उत्तराखंड उर्जा निगम, पिटकुल और उरेडा के एमडी का पद संभाल लिया है। ट्रांसफर के आदेश जारी होने के छह दिनों तक इंतजार करने के बाद आखिरकार दीपक रावत ने अपना पद संभाला है। उनके पद संभालने के साथ ही कई कयासों पर विराम लग गया है। बताया जा रहा था कि वो अपने स्थानांतरण से नाराज चल रहे थे और यही वजह है कि वो अपना पद नहीं संभाल रहे थे।

जमे रहे कुर्सी पर

दरअसल पिछले दिनों शासन स्तर से बड़े पैमाने पर IAS के कामकाज में बदलाव किया था। इसमें कई चर्चित अफसरों के भी तबादले किए गए थे। इनमें कई ऐसे अफसर भी शामिल थे जो काफी वर्षों से एक जगह जमे हुए थे। इनमें से कई अफसरों पिछले मुख्यमंत्रियों के खासमखास रहे और उनकी कुर्सी नहीं हिली। दीपक रावत भी ऐसे ही अफसरों में से एक थे। पिछले काफी समय से वो हरिद्वार में ही तैनात थे। पहले वो हरिद्वार के डीएम रहे फिर कुंभ में मेला अधिकारी का पद मिला।

ये भी पढ़िए – पति ही बनाता था पत्नी के अश्लील वीडियो, वायरल करने की देता था धमकी

याद दिलाया गया

दीपक रावत मेला खत्म होने के बाद भी मेला अधिकारी के पद पर बने हुए थे। तीरथ सरकार में भी वो बने रहे लेकिन सत्ता बदलते ही दीपक रावत का तबादला कर दिया गया। दीपक रावत को उर्जा निगम के एमडी का पद सौंपा गया। लेकिन आदेश जारी होने के बाद भी वो पोस्टिंग लेने को तैयार नहीं दिख रहे थे। इस बीच कई चर्चाएं चलीं। इसी दौरान शासन स्तर से एक पत्र भी जारी हुआ जिसमें अधिकारियों को आचरण नियमावली याद दिलाई गई और नियमावली का पालन न करने वालों अधिकारियों के खिलाफ होनी वाली कार्रवाइयां भी याद दिलाईं गईं।


समाचारों के लिए हमें ईमेल करें – khabardevbhoomi@gmail.com। हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube