उत्तराखंड में चार धाम यात्रा शुरु करने की अनुमति मिल गई है। नैनीताल हाईकोर्ट ने शर्तों के साथ यात्रा शुरु करने की अनुमति दे दी है।


char dhamउत्तराखंड में अब चार धाम यात्रा फिर एक बार शुरु हो सकेगी। नैनीताल हाईकोर्ट ने इसकी इजाजत दी है। हालांकि नैनीताल हाईकोर्ट ने इसके लिए कुछ शर्तें तय की हैं। कोर्ट की शर्ते पूरा करने वाले ही चार धाम यात्रा कर सकेंगे।

नैनीताल हाईकोर्ट ने कुछ दिनों पहले एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए चार धाम यात्रा पर रोक लगा दी थी। कोर्ट ने कोविड संक्रमण का हवाला देते हुए यात्रा पर रोक लगाई थी।

हालांकि सरकार की लगातार पैरवी के बाद अब कोर्ट ने यात्रा फिर एक बार शुरु करने की अनुमति दे दी है। कोर्ट ने निर्देश दिए हैं कि कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने वालों को ही यात्रा की अनुमति होगी। इसके साथ ही कोविड निगेटिव रिपोर्ट दिखाने वालों को ही यात्रा की इजाजत मिलेगी।

सीएम पुष्कर सिंह धामी का आज जन्मदिन, बच्चे बोेले, हैप्पी बर्थडे मामा

कोर्ट ने चारों धामों में यात्रियों की संख्या भी निर्धारित कर दी है। केदारनाथ में एक दिन में सिर्फ 800 श्रद्धालुओं को दर्शन की अनुमति होगी। जबकि बद्रीनाथ में 1200, गंगोत्री में 600 और यमुनोत्रि में 400 श्रद्धालु एक दिन में दर्शन कर सकेंगे।

हाईकोर्ट ने स्पष्ट किया है कि धामों में स्थिक किसी कुंड में कोई श्रद्धालु स्नान नहीं कर सकेगा। चारों धाम जिन जिन जिलों में स्थित हैं उन जिलों में पुलिस फोर्स की अतिरिक्त तैनाती होगी।

आपको बता दें कि पिछले काफी वक्त से राज्य में चार धाम यात्रा स्थगित चल रही थी। इसके चलते राज्य में पर्यटन कारोबार पूरी तरह चौपट होने की कगार पर आ गया था। सरकार पर चाऱ धाम यात्रा जल्द शुरु करने का भारी दबाव था।


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube