उत्तराखंड में कांग्रेस नेताओं पर बड़े हमले की आशंका है। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने इस संबंध में अपनी आशंका फेसबुक पोस्ट पर शेयर की है। हरीश रावत की इस पोस्ट के बाद पूरे राज्य में सनसनी है। हरीश रावत ने अपनी पोस्ट में राहुल गांधी और उत्तराखंड भाजपा के साथ ही पुलिस को भी टैग किया है।


harish rawat

 

हरीश रावत ने अपनी पोस्ट में लिखा है कि ‘अभी-अभी मुझे दो सूत्रों से सूचना मिली है, जो चिंताजनक है। राजनीति में प्रतिद्वंदिता हो, स्वस्थ प्रतिद्वंदिता हो, वैचारिक प्रतिद्वंदिता हो, कर्म करने की प्रतिद्वंदिता हो, मगर यदि आप अपने राजनैतिक प्रतिद्वंदी के ऊपर छात्रों को उकसा करके या कुछ लोगों को मोटिवेट करके, उनके जरिए स्याही में तेजाब मिलाकर कांग्रेस के नेताओं की यात्रा में किसी एक व्यक्ति को चिन्हित करके फेंकना चाहेंगे तो ये उत्तराखंड की राजनीति के लिए कलंक पूर्ण अध्याय होगा।’

ये भी पढ़िए – Uttarakhand: मंत्री गणेश जोशी की फिसली जुबान, पुष्कर धामी को बताया पूर्व CM

रावत ने अपनी पोस्ट में यह भी कहा, ‘यदि ऐसा होता है तो उस राजनैतिक दल का सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है कि कौन राजनैतिक दल है! तो इसलिए सूचना मिलते ही मैं इसको सभी जिसमें प्रशासनिक एजेंसी भी सम्मिलित हैं, पुलिस भी सम्मिलित है और राजनैतिक दल भी सम्मिलित हैं, उनके साथ साझा कर रहा हूं। मेरी, मां पूर्णागिरि से प्रार्थना है कि ऐसा न हो, यह एक केवल आशंका मात्र हो और उसके आधार पर यह सूचना मुझ तक पहुंची हो, मगर यदि ऐसा कोई प्रयास होता है तो यह उत्तराखंड की राजनीति का बड़ा ही दुखद अध्याय होगा, एक बड़ा ही निंदनीय प्रयास होगा।’

 

आपको बता दें कि तीन सितंबर को कांग्रेस मुख्यमंत्री की विधानसभा खटीमा से परिवर्तन रैली की शुरुआत कर रही है। ये रैली विभिन्न इलाकों में जाएगी। इस रैली के जरिए कांग्रेस शक्ति प्रदर्शन करना चाहती है। साथ ही नए प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल के लिए भी ये अपनी ताकत दिखाने का मौका है। इस रैली में बड़ी भीड़ जुटने की उम्मीद है। कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत इस परिवर्तन रैली में झोंक रखी है।


हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube