उत्तराखंड में उच्च शिक्षण संस्थानों में एक सितम्बर से नए प्रवेश शुरू होंगे, जबकि एक अक्टूबर से नया शैक्षणिक सत्र प्रारम्भ होगा। सभी राजकीय विश्वविद्यालयों को 30 अक्टूबर तक समस्त परीक्षा परिणाम घोषित करने के निर्देश दे दिये गये हैं। इसके अलावा राज्य में नई शिक्षा नीति लागू करने के लिए गठित टास्क फोर्स को होम वर्क शुरू करने के लिए कहा गया है।


dhan singh rawat

उच्च शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत की अध्यक्षता में सचिवालय स्थित वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली सभागार में आयोजित राजकीय एवं निजी विश्वविद्यालयों की बैठक में कई अहम फैसले लिये गये। बैठक में निर्णय लिया गया कि राज्य के समस्त उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रथम वर्ष एवं प्रथम सेमेस्टर के प्रवेश पहली सितम्बर से प्रारम्भ कर दिये जायेंगे। जबकि यूजीसी गाइडलाइन का पालन करते हुए एक अक्टूबर से नया शिक्षण सत्र शुरू करना होगा। इसी क्रम में सभी राजकीय विश्वविद्यालयों को 30 अक्टूबर तक समस्त परीक्षा परिणाम घोषित करने के निर्देश दिये गये हैं।

 

कोविड नियमों का पालन करते हुए मेडिकल, पैरामेडिकल एवं नर्सिंग कालेजों को अगस्त माह में खोले जाने की मांग पर अनुमति प्रदान करने का निर्णय लिया गया है। बैठक में राज्य में नई शिक्षा नीति लागू करने के उद्देश्य से गठित टास्क फोर्स को अभी से होम वर्क शुरू करने के निर्देश दिये गये।

ये भी पढ़िए – बड़ी खबर। श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय में प्रवेश मामले की होगी जांच

sridev suman university

राज्य के सभी विश्वविद्यालयों में एनसीसी, एनएसएस एवं रेडक्रास सोसाइटी की ईकाइयां स्थापित करने के लिए कुलपतियों को निर्देशित किया गया। इसके अलावा विश्वविद्यालयों में जागरूता अभियान के अंतर्गत घटते हुए लिंगानुपात पर सेमिनार आयोजित करने, नमामि गंगे परियोजना के तहत 3-डी पेंटिंग हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त करने, जल जीवन मिशन के तहत विज्ञान प्रयोगशाला प्रस्ताव भेजने के निर्देश कुलपतियों को दिये।

 

ब्लॉक स्तर पर सार्वजनिक पुस्तकालय खोले जाने हेतु नेशनल लाइब्रेरी कोलकता के सहयोग से सेमीनार आयोजित करने हेतु विश्वविद्यालयों को कहा गया। कोविड-19 गाइडलाइन के अंतर्गत अक्टूबर माह में सभी राजकीय एवं निजी विश्वविद्यालयों को दीक्षांत समारोह आयोजित करने के निर्देश दिये गये।


समाचारों के लिए हमें ईमेल करें – khabardevbhoomi@gmail.com। हमारे Facebook पेज को लाइक करें और हमारे साथ जुड़ें। आप हमें  Twitter और Koo पर भी फॉलो कर सकते हैं। हमारा Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें – Youtube