टोक्यो ओलंपिक में आज भारतीय महिला हॉकी टीम ने इतिहास रच दिया है। पहली बार भारतीय टीम ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है आपको बता दें कि ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से मात दी है भारतीय हॉकी टीम ने भारत की तरफ से गुरजीत कौर ने यह गोल किया। आपको बता दें कि इतिहास में पहला मौका है कि भारतीय हॉकी पुरुष टीम 49 साल के बाद एक बार जहां सेमीफाइनल में पहुंची है तो वहीं महिला हॉकी टीम को पहली बार सेमीफाइनल में जगह बना पाई है।

जीत का जश्न

टोक्यो ओलंपिक के 11 वें दिन यानी कि आज 2 अगस्त को महिला हॉकी टीम ने इतिहास रच दिया है। रानी रामपाल की इस टीम ने क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हरा दिया है। इसी के साथ उसने पहली बार ओलंपिक के सेमीफाइनल में जगह बनाई है। भारत आज एथलेटिक्स में भी इतिहास रच सकता है। कमलप्रीत कौर डिस्कस थ्रो के फाइनल में उतरेंगी। वह पदक जीतने में कामयाब रहीं तो एथलेटिक्स में मेडल लाने वाली पहली भारतीय बन जाएंगी।

हार के बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी

वही पूरे देश से भारतीय हॉकी टीम को बधाई मिलने का सिलसिला भी शुरू हो गया है , उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक तथा ने कई राजनेताओं के साथ साथ law and justice minister Kiren rijiju ने भी टीम इंडिया को बधाई दी है।